Preferred language:

This is the default search language used by BabelNet
Select the main languages you wish to use in BabelNet:
Selected languages will be available in the dropdown menus and in BabelNet entries
Select all

A

B

C

D

E

F

G

H

I

J

K

L

M

N

O

P

Q

R

S

T

U

V

W

X

Y

Z

all preferred languages
    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: أداء موسيقي, ترفيه, غناء, وظائف موسيقية

  غناء · الغناء · غِنَاء‎ · فوكاليز · مغني

الغناء هو إصدار صوت فن يدمج بين 3 عناصر أساسية هي الموسيقى و الكلمة و الصوت. Wikipedia

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: 歌唱

  歌唱 · · 唱歌 · 清腔 · 演唱

歌唱,或唱歌,是指人类透过发声器官产生音乐的过程。 Wikipedia

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: All articles to be expanded, All articles with unsourced statements, Articles containing video clips, Articles to be expanded from January 2013...

  singing · vocalizing · singer · vocalist · vocals

The act of singing vocal music WordNet

More definitions


Singing is the act of producing musical sounds with the voice and augments regular speech by the use of sustained tonality, rhythm, and a variety of vocal techniques. Wikipedia
The act of producing musical sounds with the voice Wikipedia (disambiguation)
Act of producing musical sounds with the voice Wikidata
A male person who sings, is able to sing, or earns a living by singing. OmegaWiki
The act of using the voice to produce musical sounds; vocalizing. Wiktionary
Singing is the act of producing musical sounds with the voice, and augments regular speech by the use of both tonality and rhythm. Wikiquote

HAS PART
HAS KIND
canticle • chant • declamation
singsong • sprechgesang • yodeling • Reciting tone • Cante flamenco • lyric singing • Zingzeggen • a capella singing • bel canto • caroling • chanting • coloratura • crooning • harmonisation • humming • hymnody • intonation • karaoke • part-singing • scat singingand more...
DESCRIBED BY SOURCE
SAID TO BE THE SAME AS
    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: Technique musicale, Technique vocale, Vocabulaire de l'opéra

  chant   · Voix chantée · chanteur · Chants

Le chant représente l'ensemble de la production de sons musicaux à l'aide de la voix humaine. Wikipedia

More definitions


Production de sons musicaux à l''aide de la voix Wikidata
Homme qui chante, est capable de chanter, ou gagne sa vie en chantant. OmegaWiki
Le représente l'ensemble de la production de sons musicaux à l'aide de la voix. Wikiquote

HAS KIND
cantique • clameur • déclamation
singalong • sprechgesang • yodel • Psalmodie • Cante flamenco • Chant lyrique • Zingzeggen • chant a cappella • bel canto • caroling • intonation • colorature • crooning • crooner • harmonisation • humming • psalmodie • karaoké • Chanson à parties • scatand more...
SAID TO BE THE SAME AS
    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: Gesang, Phoniatrie und Pädaudiologie

  Gesang · Singen · Sänger · Gesangsapparat · Gesangsfach

Gesang ist der musikalische Gebrauch der menschlichen Stimme und wahrscheinlich die älteste und ursprünglichste musikalische Ausdrucksform des Menschen. Wikipedia

More definitions


Insbesondere das Vorsingen eines Gutenachtliedes Wikipedia (disambiguation)
Musikalischer Gebrauch der menschlichen Stimme Wikidata
Eine männliche Person, die singt, fähig ist zu singen oder ihren Lebensunterhalt mit singen verdient. OmegaWiki

HAS KIND
Canticum • Chanting • Deklamation
Singalong • Sprechgesang • Jodeln • Psalmton • Cante flamenco • lyric singing • Zingzeggen • a capella gesang • Belcanto • caroling • singen • coloratura • crooning • harmonisation • humming • hymnody • intonation • Karaoke • teil-gesang • Scatand more...
HAS INSTANCE
DESCRIBED BY SOURCE
SAID TO BE THE SAME AS
    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •    

  τραγούδι · άσμα

Η τέχνη της φωνητικής μουσικής Greek WordNet

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: זמרה, קצרמר מוזיקה

  זמרה · זִמְרָה · זימרה · זימרה‎ · שִׁירָה

זִמרה או שירה היא יצירה של צלילים מוזיקליים על פי מקצב נתון, באמצעות הקול האנושי. Wikipedia

More definitions


יצירת צלילים מוזיקליים באמצעות הקול האנושי Wikidata

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: गायन, सन्दर्भ त्रुटि के साथ पृष्ठ

  गायन · गायक

गायन एक ऐसी क्रिया है जिससे स्वर की सहायता से संगीतमय ध्वनि उत्पन्न की जाती है और जो सामान्य बोलचाल की गुणवत्ता को राग और ताल दोनों के प्रयोग से बढाती है। जो व्यक्ति गाता है उसे गायक या गवैया कहा जाता है। गायक गीत गाते हैं जो एकल हो सकते हैं यानी बिना किसी और साज या संगीत के साथ या फिर संगीतज्ञों व एक साज से लेकर पूरे आर्केस्ट्रा या बड़े बैंड के साथ गाए जा सकते हैं। गायन अकसर अन्य संगीतकारों के समूह में किया जाता है, जैसे भिन्न प्रकार के स्वरों वाले कई गायकों के साथ या विभिन्न प्रकार के साज बजाने वाले कलाकारों के साथ, जैसे किसी रॉक समूह या बैरोक संगठन के साथ। हर वह व्यक्ति जो बोल सकता है वह गा भी सकता है, क्योंकि गायन बोली का ही एक परिष्कृत रूप है। गायन अनौपचारिक हो सकता है और संतोष या खुशी के लिये किया जा सकता है, जैसे नहाते समय या कैराओके में; या यह बहुत औपचारिक भी हो सकता है जैसे किसी धार्मिक अनुष्ठान के समय या मंच पर या रिकार्डिंग के स्टुडियो में पेशेवर गायन के समय। ऊंचे दर्जे के पेशेवर या नौसीखिये गायन के लिये सामान्यतः निर्देशन और नियमित अभ्यास आवश्यकता होती है। पेशेवर गायक सामान्यतः किसी एक प्रकार के संगीत में अपने पेशे का निर्माण करते हैं जैसे शास्त्रीय या रॉक और आदर्श रूप से वे अपने सारे करियर के दौरान किसी स्वर-अध्यापक या स्वर-प्रशिक्षक की सहायता से स्वर-प्रशिक्षण लेते हैं। == मानव स्वर == अपने भौतिक पहलू में, गायन एक अच्छी तरह से परिभाषित तकनीक है जो फेफड़ों के प्रयोग पर, जो हवा की आपूर्ति, या धौंकनी की तरह कार्य करते हैं, स्वर यंत्र जो बांसुरी या कम्पक का काम करता है, वक्ष और सिर की गुहाएं, जो वायु वाद्य़ में नली की तरह, ध्वनि विस्तारक का कार्य करती हैं और जीभ जो तालू, दांतों और होठों के साथ मिलकर स्वरों और व्यंजनों का उच्चारण करती है, पर निर्भर होती है। हालाँकि ये चारों प्रणालियां स्वतंत्र रूप से कार्य करती हैं, उन्हें एक मुखऱ तकनीक की स्थापना के लिये समन्वित किया जाता है और वे एक दुसरे के साथ अंतर्क्रिया करने के लिये बनी होती हैं। निष्क्रिय श्वास क्रिया के समय, हवा मध्यपटल के साथ अंदर ली जाती है जबकि उच्छ्वास की क्रिया बिना किसी प्रयास के हो जाती है। पेट, आंतरिक अंतर्पसलीय और अधो श्रोणिक पेशियां उच्छ्वास की क्रिया में सहायक हो सकती है। बाह्य अंतर्पसलीय, स्केलीन और स्टर्नोक्लीडोमैस्टायड पेशियां उच्छ्वास में सहायता करती हैं। स्वर रज्जु आवाज की पिच में परिवर्तन करते हैं। होठों को बंद रख कर स्वर उत्पन्न करने को गुनगुनाने की संज्ञा दी जाती है। प्रत्येक व्यक्ति के गायन की अद्वितीय न केवल आवाज रज्जुओं के वास्तविक आकार व बनावट के कारण ही नहीं होती बल्कि उस व्यक्ति के शेष शरीर के आकार और बनावट पर भी निर्भर होती है। मनुष्य के स्वर रज्जुओं की मोटाई ढीली की जा सकती है या, कसी जा सकती है या बदली भी जा सकती है और उन पर से हवा बदलते हुए दबाव के साथ प्रवाहित की जा सकती है। वक्ष और गर्दन का आकार, जीभ की स्थिति और अन्यथा असंबंधित पेशियों के तनाव को बदला जा सकता है। इनमें से किसी भी कार्य के होने पर उत्पन्न आवाज की पिच, आयतन, लय या सुर में परिवर्तन हो जाता है। ध्वनि शरीर के विभिन्न भागों में भी प्रतिध्वनित होती है और एक व्यक्ति का आकार और हड्डियों का ढांचा उस व्यक्ति द्वारा उत्पन्न ध्वनि को प्रभावित कर सकता है। गायक आवाज को कुछ इस तरह प्रस्तुत करना भी सीख सकते हैं जिससे कि वह उनके स्वर तंत्र में बेहतर तरीके से गूंज सके। इसे मुखर प्रतिध्वनिकरण के नाम सो जाना जाता है। मुखर स्वर और उत्पादन पर एक प्रमुख प्रभाव स्वर यंत्र के कार्य से होता है, जिसे लोग भिन्न तरीकों से प्रयोग करके भिन्न प्रकार के स्वर उत्पन्न करते हैं। स्वर यंत्र के इन भिन्न प्रकार के कार्यों का भिन्न प्रकार की मुखर पंजियों के रूप में वर्णन किया जाता है। इस सफलता के लिये गायकों द्वारा प्रयुक्त विधि में गायक के फार्मेंट का प्रयोग किया जाता है, जिसे कान के आवृति दायरे के सबसे अधिक संवेदनशील भाग से खास तौर पर अनुकूल पाया गया है। === मुखर पंजीकरण === साँचा:Vocal registration मुखर पंजीकरण मानव की आवाज के भीतर स्थित मुखर रजिस्टरों की प्रणाली को संदर्भित करता है। मानव आवाज की पंजी एक विशेष सुरों की श्रृंखला होती है, जो स्वर रज्जुओं के समान कंपनों में उत्पन्न होती है और एक समान गुणवत्ता लिये होती है। पंजियों का मूल स्वर यंत्र के कार्य में होता है। वे इसलिये होती हैं क्योंकि स्वर रज्जुओं में कई अलग अलग तरह के कंपन उत्पन्न करने की क्षमता होती है। कम्पन के ये प्रकार पिचों के एक विशेष दायरे में प्रकट होते हैं और खास तरह के स्वर उत्पन्न करते हैं। शब्द "पंजी" कुछ भ्रामक हो सकता है क्यौंकि यह मानव आवाज के कई पहलुओं को अपने में संजोए होता है। पंजी शब्द का प्रयोग निम्न में से किसी के संदर्भ में भी किया जा सकता है: गायन के दायरे के किसी खास भाग जैसे ऊपरी, मध्यम या निचली पंजियां कोई प्रतिध्वनि क्षेत्र जैसे, वक्ष स्वर या शीर्ष स्वर। स्वरीकरण प्रक्रिया । कोई निश्चित मुखर लय या गायन "रंग" आवाज का एक क्षेत्र जिसे स्वर के व्यवधान द्वारा परिभाषित या सीमांकित किया जाता है।भाषा विज्ञान में, एक पंजीकृत भाषा वह भाषा है जो सुर और स्वर को एक एकल स्वर विज्ञान प्रणाली में संयुक्त करती है। वाक रोगविज्ञान में शब्द मुखर पंजी के तीन तत्व होते हैं - स्वर राज्जों का कोई निश्चित कम्पन प्रकार, पिचों की कोई निश्चित श्रंखला और कोई निश्चित प्रकार की आवाज। वाक रोगविशेषज्ञ स्वरयंत्र के शरीर विज्ञान क्रिया के आधार पर चार मुखर पंजियों की पहचान करते हैं - मुखर फ्राई पंजी, मोडल पंजी, फाल्सेटो पंजी और सीटी पंजी। यही नजरिया कई मुखर शिक्षाविदों ने भी अपनाया है। === स्वर प्रतिध्वनिकरण या स्वर गुंजन === स्वर प्रतिध्वनिकरण एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा स्वर उत्पादनक्रिया के मूल उत्पाद के सुर या गहराई को हवा से भरी गुहाओं द्वारा उस समय बढ़ाया जाता है जब वह उनमें से बाहरी हवा तक जाते हुए गुजरती है। प्रतिध्वनि क्रिया से संबंधित कई शब्दों में ध्वनि-विस्तारण, प्रचुरीकरण, विस्तार, सुधार, तीव्रीकरण और दीर्घीकरण शामिल हैं, हालाँकि पक्के वैज्ञानिक प्रयोग के लिये स्वर के अधिकारी उनमें से अधिकांश पर प्रश्न चिन्ह लगाते हैं। किसी गायक या वक्ता द्वारा इन शब्दों से निकाला जाने वाला मुख्य निष्कर्ष यह होता है कि प्रतिध्वनि का अंतिम परिणाम एक बेहतर आवाज होनी चाहिये। शरीर में सात ऐसे क्षेत्र हैं जिन्हें संभावित स्वर प्रतिध्वनिकारकों के रूप में सूचीबद्ध किया जा सकता है। शरीर में सबसे नीचे की स्थिति से सबसे ऊपर की स्थिति की श्रंखला में ये क्षेत्र हैं, वक्ष, वायुनली वृक्ष, स्वरयंत्र, गला, मुखगुहा, नासगुहा और साइनस। === वक्ष स्वर और शीर्ष स्वर === वक्ष स्वर और शीर्ष स्वर मुखर संगीत में प्रयुक्त पद हैं। इन पदों का प्रयोग मौखिक स्वर शिक्षाविदों में बड़े पैमाने पर भिन्न तरह से होता है और वर्तमान में इन पदों के विषय में मुखर संगीत पेशेवरों में कोई स्थिर राय नहीं है। वक्ष स्वर का प्रयोग स्वर की सीमा के किसी विशेष भाग या स्वर पंजी के किसी विशेष प्रकार - स्वर गुंजन क्षेत्र, या विशिष्ट स्वर ताल - के संबंध में किया जा सकता है। शीर्ष स्वर का प्रयोग भी स्वर की सीमा के किसी विशेष भाग या स्वर पंजी के प्रकार या स्वर गुंजन क्षेत्र के संदर्भ में किया जा सकता है। ==== इतिहास और विकास ==== वक्ष स्वर और शीर्ष स्वर पदों का पहला लिखित संदर्भ 13वीं शताब्दी के आस-पास मिलता है, जब जोहान्स डी गार्लैंडिया और जेरोम ऑफ मोराविया नामक लेखकों द्वारा इसे गले के स्वर से अलग पहचाना गया। इन पदों को बाद में बेल कैंटो नामक इतालवी आपेरा गायन विधि में समाविष्ट कर लिया गया, जिसमें वक्ष स्वर को तीनों स्वर पंजियों-वक्ष, पैसेजियो और शीर्ष पंजी: में सबसे नीचे और शीर्ष स्वर को सबसे ऊंचा स्थान दिया गया था। यह बात आज भी कुछ स्वर शिक्षाविदों द्वारा पढ़ाई जाती है। आजकल प्रचलित बेल कैंटो माडल पर आधारित एक और पद्धति के अनुसार पुरूष और स्त्री के स्वरों को तीन पंजियों में विभाजित किया गया है। पुरूषों के स्वरों को वक्ष पंजी, शीर्ष पंजी और फाल्सेटो पंजी में और स्त्रियों के स्वर को वक्ष पंजी, मध्य पंजी और शीर्ष पंजी में विभाजित किया गया है। ये शिक्षाविद कहते हैं कि शीर्ष पंजी गायक के सिर में महसूस किये जाने वाले गुंजन का वर्णन करने के लिये गायन में प्रयुक्त एक स्वर तकनीक है।लेकिन पिछले दो सौ वर्षों में मानव के शरीरक्रिया विज्ञान की जानकारी और गायन और स्वर के उत्पादन की भौतिक क्रिया की समझ में वृद्धि हुई है। परिणामस्वरूप कई स्वरशिक्षाविदों जैसे इंडियाना विश्वविद्यालय के राल्फ एप्पेलमैन और दक्षिणी कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के विलियम वेनार्ड ने वक्ष स्वर और शीर्ष स्वर पदों के प्रयोग को पुनर्परिभाषित कर दिया है या उनका प्रयोग करना ही बंद कर दिया है। खास तौर पर वक्ष पंजी और शीर्ष पंजी पदों का प्रयोग विवादास्पद हो गया है क्योंकि स्वर पंजी को आजकल स्वर तंत्र की क्रिया के उत्पाद के रूप में देखा जाता है जो कि वक्ष, फेफडों और सिर के शरीरक्रियाविज्ञान से असंबंधित है। इसी वजह से कई स्वर शिक्षाविद यह तर्क करते हैं कि पंजियों के वक्ष या सिर में उत्पन्न होने की बात करना अनर्गल है। वे कहते हैं कि इन क्षेत्रों में महसूस होने वाले कंपन प्रतिध्वनियां हैं और उनका वर्णन पंजियों की बजाय स्वर के गुंजन से संबंधित पदों में किया जाना चाहिये। ये स्वर शिक्षाविद पंजी के स्थान पर वक्ष स्वर और शीर्ष स्वर पदों का प्रयोग अधिक पसंद करते हैं। इस नजरिये के अनुसार जिन समस्याओं को लोग पंजी की समस्याएं मानते हैं वे दरअसल प्रतिध्वनि के समंजन की समस्याएं हैं। यह नजरिया वाक रोगशास्त्र, स्वर विज्ञान और भाषाविज्ञान सहित स्वर पंजियों का अध्ययन करने वाले अन्य शैक्षणिक क्षेत्रों के नजरियों से भी सामंजस्य रखता है। हालाँकि दोनो ही विधियां अभी भी प्रयोग में हैं, फिर भी वर्तमान स्वर शिक्षाविद व्यवसाय नए अधिक वैज्ञानिक नजरिये को अपनाना पसंद करता है। हां, कुछ स्वर शिक्षाविद दोनों नजरियों के विचारों का प्रयोग करते हैं।वक्ष स्वर शब्द का समकालीन प्रयोग अकसर किसी विशिष्ट स्वर वर्ण या स्वर के ताल के संदर्भ में होता है। शास्त्रीय गायन में, इसका प्रयोग पूरी तरह से मोडल पंजी या सामान्य स्वर के निचले भाग तक ही सीमित होता है। गायन के अन्य प्रकारों में वक्ष स्वर को अकसर समूचे मोडल पंजी में प्रयोग में लाया जाता है। वक्ष सुर गायक के स्वर की अर्थपूर्ण रंगपट्टिका में स्वरों की आश्चर्यजनक कतार लगा सकते हैं। लेकिन वक्ष में ऊंचे स्वरों को उत्पन्न करने की कोशिश में ऊंची पंजियों में अधिक बलशाली वक्ष स्वर का प्रयोग बलप्रयोग उत्पन्न कर सकता है। बलप्रयोग से अंततोगत्वा स्वर का ह्रास हो सकता है। === गायन के स्वरों का वर्गीकरण === साँचा:Vocal range यूरोपीय शास्त्रीय संगीत और आपेरा में, स्वरों का प्रयोग संगीत के वाद्यों की तरह किया जाता है। स्वर संगीत लिखने वाले गीतकारों को गायकों के हुनर और स्वर के गुणों की पहचान होना आवश्यक होता है। स्वर वर्गीकरण एक प्रक्रिया है, जिसके द्वारा मानवीय गायन स्वरों का मूल्यांकन करके उन्हें विभिन्न स्वर प्रकारों का नाम दिया जाता है। इन गुणों में स्वर का दायरा, स्वर का वजन, स्वर का टेसीट्यरा, स्वर की गहराई और स्वर के परिवर्तन बिंदु जैसे स्वर के तोड़ और उठाव आदि शामिल होते हैं। अन्य ध्यान देने योग्य बातों में भौतिक गुण, वाकस्तर, वैज्ञानिक परीक्षण और स्वर पंजीकरण शामिल हैं। यूरोपीय शास्त्रीय संगीत में विकसित स्वर वर्गीकरण से संबंधित विज्ञान गायन के अधिक आधुनिक प्रकारों से अनुकूलन में पिछड़ गया है। आपेरा में स्वर वर्गीकरण का प्रयोग अकसर भावी स्वरों को संभावित भूमिकाओं से जोड़ने के लिये किया जाता है। शास्त्रीय संगीत में आजकल कई विभिन्न प्रणालियां हैं जिनमें शामिल हैं-जर्मन फैक प्रणाली और कोरल संगीत प्रणाली। कोई एक प्रणाली न तो सभी स्थानों में लागू है और न ही स्वीकृत है।फिर भी अधिकांश शास्त्रीय संगीत प्रणालियां सात भिन्न मुख्य स्वर प्रकारों को मान्यता देती हैं। स्त्रियों को तीन समूहों में विभाजित किया गया है - सोप्रानो, मेज़ो-सोप्रानो और कान्ट्राल्टो। पुरूषों को सामान्यतः चार समूहों में बांटा गया है - काउंटरटीनॉर, टीनॉर, बैरिटोन और बैस। तरूण होने के पहले की उम्र वाले बच्चों की आवाजों पर ध्यान देते समय एक आठवें पद, ट्रेबल, का प्रयोग किया जा सकता है। इन सभी मुख्य प्रकारों में से हर एक के कई उपप्रकार होते हैं जो आवाजों की अलग पहचान के लिये विशिष्ट स्वर गुणों जैसे कलराटुरा सुविधा व स्वर के वजन की पहचान करते हैं।इस बात पर ध्यान देना चाहिये कि कोरल संगीत में, गायकों के स्वर केवल आवाज की गहराई के आधार पर बंटे होते हैं। कोरल संगीत प्रत्येक लिंग में अधिकतर स्वर के भागों को ऊंची और नीची आवाजों में बांटता है। परिणामस्वरूप, आदर्श कोरल स्थिति में दुर्वर्गीकरण हो जाने की बहुत संभावनाएं होती हैं। चूंकि अधिकांश लोगों की आवाज मध्यम होती है, उन्हें उनके लिये या तो बहुत ऊंचा या बहुत नीचा भाग देना चाहिये; मेज़ो-सोप्रानो को सोप्रानो या आल्टो गाना चाहिये और बैरिटोन को टीनॉर या बैस गाना चाहिये। प्रत्येक विकल्प गायक के लिये कठिनाईयां प्रस्तुत कर सकता है, लेकिन अधिकांश गायकों के लिये नीचे के सुर में गाने में ऊंचे सुर में गाने की अपेक्षा कम खतरा होता है।संगीत के समकालीन प्रकारों में गायकों को उनके द्वारा गाए जाने वाले संगीत के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है, जैसे जैज़, पॉप, व्लूज़, सोल, कंट्री, फोक, या रॉक शैलियां। वर्तमान समय में गैर-शास्त्रीय संगीत में कोई आधिकारिक स्वर वर्गीकरण नहीं है। अन्य प्रकार के गायन में शास्त्रीय स्वर के प्रकारों का प्रयोग करने के प्रयत्न किये गए हैं लेकिन ऐसे प्रयत्न विवादग्रस्त हो गए हैं। स्वर के प्रकारों के वर्गीकरण का विकास इस भरोसे पर किया गया था कि गायक शास्त्रीय स्वर तकनीक का प्रयोग एक खास दायरे में रहकर बिना विस्तारित स्वर उत्पादन के साथ करेगा। चूंकि समकालीन संगीतज्ञ भिन्न स्वर तकनीकों, माइक्रोफोनों, का प्रयोग करते हैं और विशिष्ट स्वर भूमिका में जमने के लिये मजबूर नहीं होते हैं, इसलिये सोप्रानो, टीनॉर, बैरिटोन जैसे पदों का प्रयोग भ्रामक या गलत हो सकता है। == स्वर शिक्षाशास्त्र == गायन के अध्यापन के अध्ययन को स्वर शिक्षाशास्त्र कहते हैं। स्वर शिक्षाशास्त्र की कला और विज्ञान का एक लंबा इतिहास है जो प्राचीन ग्रीस में शुरू हुआ था और आज तक विकसित और परिवर्तित हो रहा है।[कृपया उद्धरण जोड़ें] स्वर के शिक्षाशास्त्र की कला और विज्ञान का व्यवसाय करने वाले पेशों में स्वर प्रशिक्षक, कोरल निर्देशक, मुखर संगीत शिक्षकों, ओपेरा निर्देशक और गायन के अन्य अध्यापक शामिल हैं। स्वर शिक्षाशास्त्र के सिद्धांत उपयुक्त स्वर तकनीक के विकास का भाग हैं। अध्ययन के लिये आदर्श क्षेत्रों में निम्न शामिल हैं: मानवीय शरीर रचना शास्त्र और शरीरक्रियाविज्ञान जो गायन की भौतिक प्रक्रिया से संबंधित है, स्वर का स्वास्थ्य और गायन से संबंधित स्वर के विकार श्वास क्रिया और गायन के लिये वायु का समर्थन स्वर उत्पादन स्वर की प्रतिध्वनि या स्वर का प्रोजेक्शन स्वर का पंजीकरण: स्वर रज्जुओं के समान कंपन प्रकार में उत्पन्न समान गुणवत्ता वाले तालों या लय की विशिष्ट श्रंखला, जो स्वर यंत्र से उत्पन्न होती है, क्योंकि इन सभी कंपन प्रकारों में से प्रत्येक पिचों के एक विशिष्ट दायरे में आते हैं और कुछ खास तरह की ध्वनियों को उत्पन्न करते हैं। स्वर वर्गीकरणस्वर की शैलियां: शास्त्रीय गायकों के लिये, इनमें लाइडर से आपेरा तक की शैलियां शामिल हैं; पॉप गायकों के लिये, शैलियों में "बेल्टेड आउट" ब्लूज़ बैलाड-जाज़ गायकों के लिये, शैलियों में स्विंग बैलाड और स्कैटिंग शामिल हैं। सोस्टेनूटो और लोगाटो जैसी शैलियों में प्रयुक्त तकनीकें, दायरे का विस्तारण, सुर की गुणवत्ता, वाइब्रेटो और कलराटुरा === स्वर की तकनीक === उपयुक्त स्वर की तकनीक से किया गया गायन एक एकीकृत और समन्वयित क्रिया है जो गायन की भौतिक प्रक्रियाओं को प्रभावी रूप से संयोजित करती है। मौखिक स्वर के उत्पादन में चार भौतिक प्रक्रियाओं का प्रयोग होता है - श्वसन क्रिया, स्वर उत्पादन, प्रतिध्वनि और उच्चारण। ये प्रक्रियाएं निम्न श्रंखला में होती हैं: सांस ली जाती है स्वर यंत्र में आवाज शुरू होती है स्वर प्रतिध्वनिकारक आवाज को ग्रहण करते और उसको प्रभावित करते हैं उच्चारक आवाज को समझी जा सकने योग्य इकाइयों का रूप प्रदान करते हैंयद्यपि ये चारों प्रक्रियाएं अध्ययन के समय अलग-अलग पढ़ी जाती हैं, वास्तव में वे एक संयोजित कार्य में मिली होती हैं। किसी प्रभावशाली गायक या वक्ता के साथ सुनने वाले का ध्यान कभी उसमें होने वाली प्रक्रिया की ओर नहीं जाता है क्यौंकि मन और शरीर इस तरह से समायोजित हो जाते हैं कि सुनने वाले को केवल उसके फलस्वरूप उत्पन्न एकीकृत कार्य का ही ध्यान रहता है। इस प्रक्रिया में समायोजन की कमी होने पर कई स्वर संबंधी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।चूंकि गायन एक समायोजित उपक्रम है, इसलिये किसी भी व्यक्तिगत तकनीकी क्षेत्र और प्रक्रियाओं के बारे में अन्य लोगों के संदर्भ के बिना कहना कठिन होता है। उदाहरण के लिये, स्वर निर्माण के बारे में तभी कह जा सकता है जब वह श्वसन क्रिया से जुड़ा हो, उच्चारक प्रतिध्वनि को प्रभावित करते हैं, प्रतिधवनिकारक स्वर रज्जुओं पर असर डालते हैं, स्वर रज्जु श्वास नियंत्रण को प्रभावित करते हैं, आदि। स्वर के विकारों के कारण अकसर उस समायोजित प्रक्रिया के एक भाग में रूकावट आ जाती है जिससे स्वर अद्यापक को अपने विद्यार्थी में प्रक्रिया के किसी एक भाग पर अधिक जोर देना पड़ता है जब तक कि वह समस्या ठीक न हो जाय। लेकिन गायन की कला के कुछ क्षेत्र समायोजित कार्यों के परिणामों से कि उनके बारे में पारम्परिक नामों जैसे स्वरीकरण, प्रतिध्वनिकरण, उच्चारण या श्वसनक्रिया के अंतर्गत बात करना कठिन है। एक बार विद्यार्थी गायन की क्रिया में काम आने वाली प्रक्रियाओं व उनकी कार्यप्रणाली के प्रति सजग हो जाता है तो वह उनका समायोजन करने की कोशिश में लग जाता है। अपरिहार्य रूप से विद्यार्थी और अध्यापक किसी एक प्रकार की तकनीक के बारे में अधिक चिंतित हो जाते हैं। कई प्रक्रियाएं भिन्न दरों पर आगे बढ़ सकती हैं जिससे एक असंतुलन या समायोजन की कमी हो जाती है। विद्यार्थी की भिन्न कार्यों को समायोजित करने की क्षमता पर सबसे अधिक निर्भर स्वर की तकनाक के क्षेत्र हैं: स्वर के दायरे को अपनी अधिकतम सीमा तक ले जाना एक समान सुर के गुण वाली एक समान आवाज की उत्पत्ति का विकास करना लचीलेपन और फुर्ती का विकास करना एक संतुलित वाइब्रेटो प्राप्त करना ==== गायन योग्य स्वर का विकास करना ==== गायन एक हुनर है जिसके लिये उच्च रूप से विकसित पेशी प्रतिवर्ती क्रियाओं की जरूरत होती है। गायन के लिये अधिक पेशीय शक्ति की जरूरत नहीं होती लेकिन पेशी के उच्च दर्जे के समायोजन की जरूरत पड़ती है। लोग अपने स्वरों को गीतों और स्वर के व्यायामों के ध्यानपूर्वक और व्यवस्थित अभ्यास द्वारा विकसित कर सकते हैं। स्वर शिक्षाविद अपने विद्यार्थियों से अपनी आवाज की कसरत बुद्धिमत्तापूर्वक करने का निर्देश देते हैं। गायकों को हमेशा यह सोचना होता है कि वे किस तरह की आवाज निकाल रहे हैं और गाते समय उन्हें किस तरह की अनुभूति हो रही है। स्वर के व्यायामों के कई उद्देश्य होते हैं, जिनमें आवाज को गर्म करना, आवाज के दायरे को बढ़ाना, स्वर को क्षितिजवत और लंबवत कतार में लगाना और स्वर की तकनीकें सीखना जैसे, लेगेटो, स्टैकेटो, गतिकी का नियंत्रण, तेज बोलना, चौड़े अंतरालों पर आराम से गाना सीखना, कम्पित ध्वनि से गाना, मेलिस्मा गाना और स्वर की त्रुटियों का सुधार। ===== आवाज के दायरे को बढ़ाना ===== स्वर के विकास का एक महत्वपूर्ण लक्ष्य है, गुण या तकनीक में परिवर्तन की ओर बिना किसी तरह का ध्यान खींचे अपने स्वर के दायरे की प्राकृतिक सीमा के भीतर गाना सीखना। स्वर शिक्षाविद कहते हैं कि कोई गायक यह लक्ष्य केवल तभी प्राप्त कर सकता है जब गायन के लिये आवश्यक सभी भौतिक प्रक्रियाएं प्रभावी रूप से एक साथ कार्य कर रही हों। अधिकांश स्वर शिक्षाविद इन प्रक्रियाओं के समायोजन के लिये स्वर के सबसे आरामपूर्ण टेसीटूरा में अच्छी गायन की आदतों के निर्माण और फिर अपने दायरे को धीरे-धीरे बढ़ाने में विश्वास करते हैं।ऊंचे या नीचे गाने की क्षमता को प्रभावित करने वाले तीन घटक हैं: ऊर्जा घटक - "ऊर्जा" के कई अर्थ हैं। इसका मतलब स्वर को बनाने में शरीर की संपूर्ण क्रिया से, भीतर सांस लेने वाली और सांस बाहर करने वाली पेशियों के बीच संबंध जिसे श्वास समर्थन प्रक्रिया कहते हैं, से, स्वर रज्जुओं पर श्वास से डाले गए दबाव और उस दबाव के प्रति उनके प्रतिरोध से, तथा आवाज के गतिकीय स्तर से होता है। स्थान घटक - "स्थान" से मतलब है मुंह के भीतर के स्थान का आकार और तालू और स्वरयंत्र की स्थिति। सामान्य तौर पर गायक का मुंह जितना ऊंचा वह गाता है, उतना ही अधिक खुलना चाहिये। भीतरी स्थान या नर्म तालू और स्वर यंत्र को गले को शिथिल करके चौड़ा किया जा सकता है। स्वर शिक्षाविद इसका वर्णन जम्हाई लेने की शुरूआत की तरह करते हैं। गहराई घटक - "गहराई" के दो अर्थ हैं। इसका मतलब शरीर और स्वर प्रक्रिया में गहराई के वास्तविक भौतिक अनुभव से और सुर के गुण से संबंधित गहराई के मानसिक सिद्धांतों से है।मैककिनी का कहना है, ये तीनों घटक तीन मूल नियमों में व्यक्त किया जा सकते हैं - जब आप ऊंचा गाते हैं, आपको अधिक ऊर्जा का प्रयोग करना चाहिये, जब आप नीचे गाते हैं तो आप कम ऊर्जा का प्रयोग करना होता है। जब आप ऊंचा गाते हैं, आपको अधिक स्थान का प्रयोग करना पड़ता है, जब आप निचले सुर में गाते हैं, आप कम स्थान का प्रयोग करते हैं। जब आप ऊंचा गाते हैं, आप अधिक गहराई का प्रयोग करते हैं, जब आप निचले सुर में गाते हैं, आपको कम गहराई की जरूरत होती है। ===== मुद्रा ===== गायन की प्रक्रिया शरीर की कुछ खास भौतिक दशाओं की उपस्थिति में सर्वोत्तम कार्य करती है। हवा को शरीर में मुक्त रूप से खींचने और बाहर निकालने और हवा की आवश्यक मात्रा के प्राप्त करने की क्षमता श्वसन प्रक्रिया के भिन्न भागों की मुद्रा द्वारा गंभीर रूप से प्रभावित हो सकती है। वक्ष का भीतर दबा होना फेफड़ों की क्षमता को सीमित कर देता है और सख्त पेट मध्यपट को नीचे की ओर आने से रोक सकता है। अच्छी मुद्रा श्वसन प्रक्रिया को अपना मूल कार्य ऊर्जा के व्यर्थ खर्च के बिना सुचारू रूप से करने देती है। अच्छी मुद्रा स्वर निर्माण को शुरू करना और प्रतिध्वनिकारकों की ट्यूनिंग को आसान बनाती है क्योंकि सही संयोजन शरीर में अनावश्यक तनाव उत्पन्न होने से रोकता है। स्वर शिक्षाविदों ने यह बात भी देखी है कि जब गायक अच्छी मुद्रा अपनाते हैं, तो उन्हें गाते समय अधिक आत्मविश्वास का अनुभव होता है। श्रोता भी अच्छी मुद्रा वाले गायकों के प्रति बेहतर प्रतिक्रिया करते हैं। आदतन अच्छी मुद्रा बेहतर रक्त प्रवाह और शरीर को थकान व तनाव से बचाकर अंततोगत्वा शरीर के कुल स्वास्थ्य में सुधार लाती है।आदर्श गायन मुद्रा के आठ अंश होते हैं: हल्का सा लग महसूस करना पैर सीधे लेकिन घुटने खुले हुए कमर सामने की ओर सीधे रीढ़ सही रेखा में जमी हुई पेट सपाट रखे हुए सीना आराम से सामने की ओर तना हुआ कंधे नीचे और पीछे की ओर सिर सीधे सामने की ओर ===== श्वास व श्वास का समर्थन ===== प्राकृतिक श्वसन की तीन अवस्थाएं होती हैं, भीतर को सांस लेना, सांस को बाहर निकालना और विश्राम की अवस्था, ये अवस्थाएं सामान्य तौर पर जानबूझ कर नियंत्रित नहीं होती हैं। गायन में श्वसन क्रिया की चार अवस्थाएं होती हैं, भीतर सांस खींचना, नियंत्रण बनाने की अवधि, एक नियंत्रित उच्छवास अवधि और एक पुनर्वास अवधि। ये अवस्थाएं तब तक गायक के नियंत्रण में होनी चाहिये जब तक कि वे प्रतिवर्ती क्रियाएं न बन जाएं। कई गायक सचेत नियंत्रणों को उनके प्रतिवर्ती क्रियाओं में बदलने के पहले ही छोड़ देते हैं, जिससे अंततोगत्वा दीर्घकालिक स्वर की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। ===== वाइब्रेटो ===== वाइब्रेटो का प्रयोग गायकों द्वारा तब किया जाता है जब कोई अनवरत सुर तेजी से और लगातार ऊपर और नीचे की पिच में जाता है जिससे सुर में जरा सा कम्पन उत्पन्न हो जाता है। वाइब्रेटो किसी अनवरत सुर में एक लहर होती है। वाइब्रेटो प्राकृतिक रूप से होता है और उचित श्वास समर्थन और आराम की स्थिति में काम कर रहे स्वर यंत्र का परिणाम होता है।[कृपया उद्धरण जोड़ें] कुछ गायक वाइब्रेटो का प्रयोग अभिव्यक्ति के रूप में करते हैं। कई सफल कलाकारों ने गहरे, प्रचुर वाइब्रेटो की नींव पर अपने करियर का निर्माण किया है। == मुखर संगीत == मुखर संगीत एक या अधिक गायकों द्वारा, साजों के साथ या बिना साजों के, प्रस्तुत संगीत होता है, जिसमें गायन का मुख्य भाग होता है। मुखर संगीत शायद संगीत का सबसे प्राचीन प्रकार है, क्योंकि इसे मानवीय स्वर के अलावा और किसी साज की जरूरत नहीं होती। सभी संगीत संस्कृतियों में किसी प्रकार का मुखर संगीत पाया जाता है और सम्पूर्ण विश्व की सभी संस्कृतियों में गायन की दीर्घकालिक परंपराएं रही हैं। ऐसा संगीत जो गायन का प्रयोग तो करता है पर उसे मुख्य रूप से पेश नहीं करता है, सामान्य तौर पर साज-संगीत माना जाता है। उदाहरण के लिये, कुछ ब्लूज़ रॉक गीतों में सादे बुलावे-व-प्रतिक्रिया वाले कोरस हो सकते हैं, लेकिन गीत में साज से उत्पन्न धुनों पर अधिक जोर होता है। मुखर संगीत आदर्श रूप से गाए हुए शब्दों जिन्हें गीत कहते हैं, को पेश करता है, हालाँकि मुखर संगीत के ऐसे भी उदाहरण हैं जिन्हें बिना भाषा वाले शब्दों या आवाजों - कभी-कभी संगीत के ओनोमोटोपिया के रूप में - का प्रयोग किये भी प्रस्तुत किया गया है। गीत के साथ गाए हुए किसी भी मुखर संगीत के छोटे से टुकड़े को गाना कहते हैं। === मुखर संगीत की विधाएं === मुखर संगीत को कई भिन्न तरीकों और शैलियों में लिखा जाता है जिन्हें अकसर किसी खास विधा का नाम दिया जाता है। इन विधाओं में शामिल हैं: कला संगीत, लोकप्रिय संगीत, पारम्परिक संगीत, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय संगीत और इन विधाओं के मिश्रण। इन मुख्य विधाओं में कई उप-विधाएं होती हैं। उदा. Wikipedia

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: Canto

  Canto · cantante · voce · musica vocale · voce di gola

Il canto è l'emissione, mediante la voce, di suoni ordinati per ritmo e altezza a formare una melodia. Wikipedia

More definitions


Emissione di suoni modulati. Wikipedia (disambiguation)
Emissione vocale di suoni ordinati per ritmo e altezza a formare una melodia Wikidata

HAS PART
HAS KIND
cantico • chant • declamatio
singalong • Sprechgesang • Jodel • Salmodia • Cante • lyric singing • Zingzeggen • il canto a capella • Belcanto • caroling • chanting • coloratura • crooning • canticchiando • armonizzazione • humming • hymnody • intonazione • karaoke • canzone parte • Scatand more...
SAID TO BE THE SAME AS
    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: 歌, 音楽のジャンル

  歌唱 · ボーカル · 歌い手 · 歌い手 · 歌う

歌唱(かしょう)とは声を用いて音楽を作り出すことを言い、調の使用、リズム、持続音などさまざまな発声技術によって通常の音声を強化することで行なわれる。 Wikipedia

More definitions


声楽曲を歌うこと Japanese WordNet

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: Пение

  пение   · вокалист · пе́ние · певец   · песнопе́ние

Пе́ние — вокальное искусство. Wikipedia

More definitions


Вокальное искусство Wikidata

    •     bn:00071734n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/11/14     •         •     Categories: Artículos con identificadores GND, Canto

  canto   · cantando · cantante   · cantar · cante

El canto es la fusión incontrolada de sonidos del aparato fonador humano, siguiendo una composición musical. Wikipedia

More definitions


Producción de sonidos musicales con la voz Wikidata
Hombre que canta, que es capaz de cantar o que gana su vida cantando. OmegaWiki


 

Translations

غناء, الغناء, غِنَاء‎, فوكاليز, مغني, Singing, Vocals, مطربة, مغنين, مغنٍ, المطربون, المنشد, غناء أنثى, غناء نظيفة, يعلو صوته
歌唱, 唱, 唱歌, 清腔, 演唱, 发声, 女 主 唱
singing, vocalizing, singer, vocalist, vocals, singers, Back-up Vocals, Background Vocals, Backup vocals, Clean Vocals, Harmony vocal, sing, Sings, Additional vocalist, Additional vocals, Back-up vocalist, Back up singer, Back up vocalist, Back vocal, Back vocalist, Back vocals, Background singer, Backing singer, Backing vocal, Backing Vocalist, Backing vocalists, Backing Vocals, Backup vocalist, Bvox, Clean vocal, Clean vocalist, Female vocals, Front woman, Frontmen, Frontress, Frontwoman, Kantisto, Lead, Lead-singer, Lead Singer, Lead singers, Lead vocal, Lead Vocalist, Lead Vocals, Lead voice, Music singer, Pectoris, guttoris, capitis, Pop singer, Pop singers, sang, Second vocalist, Singing vocals, Songstress, sung, Sung vocals, Support, Supporting vocalist, Throat voice, Vocal mechanics, Vocalists, 👨‍🎤, 👨🏻‍🎤, 👨🏼‍🎤, 👨🏽‍🎤, 👨🏾‍🎤, 👨🏿‍🎤, 👩‍🎤, 👩🏻‍🎤, 👩🏼‍🎤, 👩🏽‍🎤, 👩🏾‍🎤, 👩🏿‍🎤
chant, Voix chantée, chanteur, Chants, chant clair, chant féminin, chanteurs, vocaliser
gesang, Singen, sänger, Gesangsapparat, Gesangsfach, Gesangsstil, Singapparat, Singstimme, Vokalist, Vokalisten, Vokalpraxis, rocksänger, cleanen vocals, female vocals, harmonie gesang, pop-sängerin, vocalizing
τραγούδι, άσμα, αρμονία φωνητικά, γυναικεία φωνητικά, καθαρά φωνητικά, προφέροντας, τραγουδιστές, τραγουδιστής, φωνητικά
זמרה, זִמְרָה, זימרה, זימרה‎, שִׁירָה, שירה‎, שירה נקיה, זמר, זמרים, קולות נשיים, שירה, שירה נקי, שירה נשי
गायन, गायक, vocalizing, vocals, गायकों, गायिकाएं, पॉप गायक, महिला vocals, सद्भाव मुखर, साफ vocals
canto, cantante, voce, musica vocale, voce di gola, voce di testa, armonia vocale, cantante pop, cantanti, vocalizzi, voci femminili
歌唱, ボーカル, 歌い手, 歌い手, 歌う, ハ ー モ ニ ボ カ ル 、, ボ ー カ リ ス ト, ボ ー カ ル, ヴォーカル, 唱歌, 女 性 ボ ー カ ル, 発声, 詠唱
пение, вокалист, пе́ние, певец, песнопе́ние, singing, вокал, вокализации, вокалистов, женский вокал, поп-певец, чистый вокал
canto, cantando, cantante, cantar, cante, cantor, Singing, armonía vocal, cantante pop, cantantes, vocalista, vocalistas, vocalizando, voces limpias, voz, voz femenina

Sources

WordNet senses

MultiWordNet senses

canto

Japanese WordNet senses

ボーカル, ヴォーカル, 唱歌, 歌唱, 詠唱

Greek WordNet senses

τραγούδι

Multilingual Central Repository senses

cante, canto

WOLF senses

chant

Hebrew senses

זִמְרָה, שִׁירָה

Wikiquote page titles

Wikiquote redirections

Translations from Wikipedia sentences

المطربون, المنشد, غناء, غناء أنثى, غناء نظيفة
女 主 唱
chant, chant clair, chant féminin, chanteur, chanteurs
cleanen vocals, female vocals, gesang, harmonie gesang, pop-sängerin, sänger
αρμονία φωνητικά, γυναικεία φωνητικά, καθαρά φωνητικά, τραγουδιστές, τραγουδιστής, τραγούδι, φωνητικά
זמרים, קולות נשיים, שירה, שירה נקי, שירה נשי
vocals, गायक, गायकों, गायन, गायिकाएं, पॉप गायक, महिला vocals, सद्भाव मुखर, साफ vocals
armonia vocale, cantante, cantante pop, cantanti, canto, voce, voci femminili
ハ ー モ ニ ボ カ ル 、, ボ ー カ リ ス ト, ボ ー カ ル, 女 性 ボ ー カ ル
вокал, вокалист, вокалистов, женский вокал, поп-певец, чистый вокал
armonía vocal, cantante pop, cantantes, canto, vocalista, vocalistas, voces limpias, voz, voz femenina

Translations from SemCor sentences or monosemous words

يعلو صوته
发声
vocaliser
gesang, vocalizing
προφέροντας, τραγούδι
זמר
vocalizing, गायन
vocalizzi
発声
вокализации
vocalizando
7 sources | 19 senses
6 sources | 12 senses
8 sources | 88 senses
9 sources | 16 senses
7 sources | 31 senses
4 sources | 11 senses
7 sources | 15 senses
5 sources | 14 senses
8 sources | 20 senses
6 sources | 17 senses
7 sources | 14 senses
8 sources | 23 senses

Compounds

BabelNet

backup vocalist, guest vocalist, singing lessons, lead vocalist, singing school, backing vocalists, studied singing, study singing, lead vocals, backing vocals, guest vocals, singing technique, backing vocalist, background vocals, back-up vocals
chant lyrique, chant populaire, professeur de chant, Fête nationale flamande du chant, chant de bataille, chant traditionnel
זמר חסידי
canto lirico, canto liturgico, registro centrale, canto corale
canto lírico, profesor de canto

Other forms

BabelNet

مغنية, الغنائي, للمغنية, الغنائية, ومغنية, غنائي, مطرب, الأغاني, غنائية
主唱, 歌手
lead singer, backing vocals, vocal performance, Backing vocals, Main vocals, harmonies, Vocalist, vox, lead vocalist, pop, Voices, clean singing, Lead vocals, Singer, Lead and backing vocals, guest vocals, background vocals, lead vocal/rap, lead vocal, all vocals, clean male vocals, Background vocals, lead vocals, additional vocals, Background Vocals, Lead Vocal, performer, singer-songwriter, Lead Vocals, male vocals, singing competition, voice, Vocal, lead, Vox, concert singer, vocal, back vocal, lead and backing vocals, harmony, Voice, co-lead vocals, vocals/guitar, clean, clean vocalist, voices, Dual vocal, song, Lead, back vocals, Lead vocalist, Backing Vocals
Voix, voix humaine, voix, Chœurs, chanteuse, chœurs, chant principal, Backing vocals, voix principale
sang, Vokalunterricht, Leadsänger, Gesangsgruppe, Klargesang, Leadsängerin, Vokalistin, Sängers, Soli, Singer, Cleangesang, Popsängerin, Opernsängerin, Leadgesang, singt, voc, -Sänger, Gesangsunterricht, Sängerinnen und Sänger, Lead-Gesang, Opernsänger, Konzertsänger, Gesangsparts, Gesängen, Gesangsausbildung, Singstimmen, Sängerabteilung, Stimme, sängers, Sängern, V, Leadsängers, Gastvokalisten, Sängerin, Sängerinnen, Musikgruppe, Gesänge, Vocals, Popsänger, Frontsänger, Opern- und Konzertsängerin, Gesangstechnik, Musiker, sängerin, Konzertsängerin
שיר, קול, קולות, הושרו, שירת, לשיר, שר, ווקאלי, זמרת
additional vocals, cantava, cantando, vocale, voce di fondo, voce raddoppiata, voce melodica, armonie vocali, canti, voci secondarie, registri vocali, Voce secondaria, Voce principale, voce femminile, voce solista, canora, seconda voce, voce maschile, voce pulita, seconde voci, Cantante, cori, voci soliste, vocals, falsetto, vocalist, Voci, canore, Cori, voce e cori, voce principale, Voce maschile, cantato, canta, voce secondaria, vocali, cantate, voci, voce addizionale, cantare, Voce di fondo, registri, Voce solista
vocal, canta, Voces, cantan, voz de fondo, vocals, Vocalista, cantadas, interpretaciones vocales, voces, coros, vocalizaciones, Coros, cantar, Voz, cantos, backing vocals, voz principal, voz líder, cantaor, vocales, cantados, cantaba