Preferred language:

This is the default search language used by BabelNet
Select the main languages you wish to use in BabelNet:
Selected languages will be available in the dropdown menus and in BabelNet entries
Select all

A

B

C

D

E

F

G

H

I

J

K

L

M

N

O

P

Q

R

S

T

U

V

W

X

Y

Z

all preferred languages
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: جهاز الإحساس, جهاز الرؤية

  جهاز الرؤية · Visual system · جهاز رؤية · نظام بصري

جهاز الرؤية هو الجزء من الجهاز العصبي المركزي الذي يمكن الكائنات من معالجة التفاصيل المرئية، وكذلك تمكين العديد من الدالات الاستجابة المرئية من تشكيل الصورة. Wikipedia

    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: 解剖学

  视觉系统

视觉系统是神经系统的一个组成部分,它使生物体具有了视知觉能力。 Wikipedia

HAS PART
HAS KIND
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: Sensory systems, Visual system

  visual system · Human visual system · Koniocellular pathway · Magnocellular pathway · Optic pathway

The sensory system for vision WordNet

More definitions


The visual system is the part of the central nervous system which gives organisms the ability to process visual detail as sight, as well as enabling the formation of several non-image photo response functions. Wikipedia
The physical mechanism of eyesight Wikipedia (disambiguation)
Part of the brain concerned with seeing Wikidata

HAS PART
HAS KIND
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: Anatomie du système visuel, Système visuel

  système visuel · Systeme visuel

Le système visuel est l'ensemble des organes participant à la perception visuelle, de la rétine au système sensori-moteur. Wikipedia

HAS PART
HAS KIND
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: Auge, Sehen

  Visuelles System · Sehsystem

Das visuelle System ist der Teil eines Nervensystems, der mit der Verarbeitung von visueller Information beschäftigt ist. Wikipedia

IS A
HAS PART
HAS KIND
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02

  οπτικό σύστημα · σύστημα όρασης

    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: מערכות גוף, קטגוריה, ראייה

  מערכת הראייה · מערכת הראיה

מערכת הראייה היא מכלול איברי החישה והמסלולים העצביים המאפשרים לבעלי חיים לראות. Wikipedia

    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: आँख के रोग, दृष्टि

  दृष्टि

दृष्टि केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र का भाग है। इसमें प्रकाशिक संकेतों को ग्रहण करने, उन्हें प्रसंस्कृत करने और उनके आधार पर क्रिया या प्रतिक्रिया करने की क्षमता प्रदान करती है। दृष्टि का मनुष्य के जीवन में बहुत बड़ा महत्व है। यह चारों ओर के पदार्थों के प्रत्यक्ष ज्ञान का साधन ही नहीं है वरन् मनुष्य के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित करती है। == दृष्टि का विकास == निम्न जाति के कशेरुकदंडियों से लेकर वानरगण तक के विकास में आँख के विश्राम की स्थिति पार्श्व दिशा से कुछ हटकर लगभग ललाटदिशा में आ गई। आँख तथा नेत्रकोटर आगे की ओर खिसक आए। नेत्रकोटर आँखों की अपेक्षा कम खिसके। प्रारंभ में नेत्रों का उपयोग आत्मपरिरक्षण था और बाद में आक्रमण करने में इनका उपयोग अधिक होने लगा। इस प्रकार विकास की अवस्था में वानरगण को द्विनेत्री दृष्टि की प्राप्ति हुई। दोनों नेत्रों के समन्वित उपयोग से केवल एक मानसिक प्रभाव उत्पन्न करने का नाम द्विनेत्री दृष्टि है। जिन पशुओं की आँखें सिर पर अगल बगल होती हैं, उनकी आँखों के दृष्टिक्षेत्र अलग अलग होते हैं। अत: उनकी दृष्टि एकनेत्री होती है, अर्थात् उन्हें एक आँख से देखने के लिए दूसरी आँख के बिंब का दमन करना पड़ता है। == द्विनेत्री दृष्टि == जन्म के समय आँखें एक दूसरे से संबद्ध नहीं होतीं, वरन् दो स्वतंत्र ज्ञानेंद्रियों के समान रहती हैं। द्विनेत्री के लिए आवश्यक यांत्रिक अंगों का अंसम्यक् विकास नहीं हुआ रहता। गर्तिकाएँ तीन महीने बाद उत्पन्न होती हैं। इनके विकसित होते ही इन क्षेत्रों को संबंद्ध करने के लिए उद्दीपन की व्यवस्था होती है। परीक्षण और चूक की विधि से, किसी पदार्थ के बिंब को दोनों गर्तिकाओं पर एक साथ लाने पर, बिंब का अत्यंत स्पष्ट होना बच्चा जानने लगता है। फिर दृष्टिअक्ष इस प्रकार अभिस्थापित होते हैं कि प्रत्येक गर्तिका दृश्य पदार्थ की ओर निदेशित हो और बच्चा दोनों मैक्यूला से एक साथ प्रत्यक्षीकरण करना सीखता है। इसके बाद की अवस्था में एक दृष्टि उत्पन्न करने के लिए दोनों अंतरक्षियों के बिंब समेक्ति होते हैं और समेकन सहजक्रिया बन जाता है। यदि आँखें किसी कारण से, जैसे किसी गर्तिका के विकसित न हो पाने या बहिरक्षिपेशियों के संस्तंभ के कारण, संबद्ध न हो पाएँ तो दृश्य पदार्थ पर दोनों गर्तिकाएँ एक साथ फोकस नहीं हो पातीं और बच्चा दो बिंबों को समेकित नहीं कर पाता। इन परिस्थितियों में दृष्टि सदा एकनेत्री और प्राय: प्रत्यावर्ती भी होती है, या बिंब अस्पष्ट होता है। द्विनेत्री दृष्टि का तीसरा क्रम गहराई प्रत्यक्षकरण, अर्थात् गहराई का बोध, या अवकाश में तीसरी विमिति का बोध, है। यह स्थिति मनोवैज्ञानिक तथा अन्य प्रक्रियाओं से होती है। दोनों आँखों के बीच पार्श्वीय दूरी होती है, जिसके कारण दोनों आँखों के बिंब सर्वांगसम नहीं होते, एक आँख का बिंब बाईं ओर और दूसरी आँख का दाहिनी ओर झुका होता है। गहराई प्रत्यक्षकरण के आवश्यक शारीरिक और मनोवैज्ञानिक कारक मनुष्य में जन्म से होते हैं, या जन्म के बाद शीघ्र ही विकसित हो जाते हैं। अत: यदि आँख और परिचालिका पेशीतंत्रिका की विरचना सामान्य हो, तो गहराई का प्रत्यक्ष ज्ञान अपने आप होता है। == आँखों का वर्तन == आँखों का वर्तन या दृष्टि की स्पष्टता दृष्टिपटल पर बने हुए बिंब की स्पष्टता पर निर्भर होती है। इसके लिए फोटोग्राफी के कैमरे जैसा नेत्र में प्रकाशिकी से संबंधित अंग होता है, जो प्रकाशिकी के सामान्य नियमों का पालन करता है। पारदर्शक स्वच्छमंडल, नेत्रोद, नेत्र लेंस और काचाभ द्रव आँख के प्रकाशकीय तंत्र के प्रधान अंग हैं। आँख का सबसे भीतरी संवेदनशील कंचुक, अर्थात् दृष्टिपटल, कैमरे की फोटोग्राफी-पट्टिका को निरूपित करता है। निलंबन स्नायु उभयोत्तल लेंस को अपने स्थान पर स्थिर रखती हैं, जिनके द्वारा यह रोमाभ पेशियों से जुड़ा होता है। पदार्थ से आनेवाली किरणें स्वच्छमंडल, नेत्रोद तथा लेंस से पारित होती हैं और लेंस द्वारा पीछे फोकस हो जाती हैं। स्वत: समायोजन के कारण लेंस की उत्तलता अधिक या कम हो सकती है एवं दृष्टिपटल पर किरणों के फोकस होने पर स्पष्ट, वास्तविक, छोटा और उल्टा बिंब बनता है। == दृष्टि का तंत्रिकाविज्ञान == दृष्टिपटल में तंत्रिका उपकलाओं की परत होती है, जिसमें दंड और शंकु होते हैं। शंकु प्रधानत: मैक्यूला पर एकत्र होते हैं और दंड परिमा पर। ये अत्यधिक विभेदित कोशिकाएँ हैं और दृष्टि अंत्यांग का काम करती हैं। अन्य संवेदी तंत्रिकाओं के समान इन अंत्यागों के उद्दीपन में भी संवेदी आवेगों का विकास होता है, जो केंद्रीय तंत्रिका तंत्र के अभिवाही क्षेत्र से होती हुई मस्तिष्क में पहुँचती हैं। पहली वास्तविक संवाहन तंत्रिका कोशिका, या प्रथम श्रेणी का न्यूरॉन, भीतरी न्यूक्लीय परत की द्वध्रुवी कोशिका है, जिसका अक्षतंतु भीतरी जालस्तर में होता है। दृष्टिपटल की गुच्छिका कोशिकाएँ द्वितीय श्रेणी की न्यूरॉन हैं, जिनकी प्रक्रियाएँ तंत्रिका रेशे की परत में पारित होती हैं और दृष्टितंत्रिका, दृष्टिस्वस्तिक और दृष्टिक्षेत्र से होती हुई पार्श्व वक्रपिंड में जाती हैं। यहाँ एक नई कोशिका - तीसरी श्रेणी का न्यूरॉन - द्वारा आवेगों का पारेषण होता है तथा ये आवेग अक्षिविकिरण द्वारा पश्चकपाल खंड के वल्क में, जिसे दृष्टिकेंद्र भी कहते हैं, यात्रा करता है। समूचे दृष्टिपटल में मैक्यूला का क्षेत्र सबसे महत्वपूर्ण और स्पष्ट तथा तीक्ष्णता के लिए उत्तरदायी है। == दृष्टि की कार्यिकी == दृष्टि की कार्यिकी या जब प्रकाश दृष्टिपटल पर पड़ता है तब वह किसी संवेदी तंत्रिका अंतांग का उद्दीपन करता है। जिस प्रकार त्वचा से किसी वस्तु का संपर्क होने से स्पर्शसंवेदन होता है। किसी सामान्य टैक्टाइल अंतांग में उपयुक्त उद्दीपन से होनेवाले परिवर्तन, संवेदी अभिवाहिका तंत्रिकाओं से शारीरिक आवेग और मस्तिष्क में इन आवेगों की मनोवैज्ञानिक व्याख्या सरल हैं। दृष्टि के तंत्रिकातंत्र में ये प्रक्रियाएँ अत्यंत जटिल और विभेदित यानि अलग-अलग हैं। दृष्टिपटल पर पड़नेवाला प्रकाश इसमें यांत्रिक, प्रकाश-रासायनिक और वैद्युत अनुक्रियाएँ उत्पन्न करता है। यांत्रिक परिवर्तनों में शंकु छोटे हो जाते हैं और षड्भुजाकार कोशिकाओं में रंजक द्रव्य अपनी प्रक्रियाएँ आरंभ करते हैं। शंकु और दंड में उपस्थित दृष्टि-नीलारुण विरंजित हो जाता है और प्रकाशमान पदार्थ का एक प्रकार का फोटोग्राफ, या दृष्टिपटलबिंब, बन जात है। अंत में, दृष्टिपटल के विद्युद्विभव में परिवर्तन भी होने लगता है। प्रकाश जब दृष्टिपटल का उद्दीपन करता है, तब तीन प्रकार के संवेदन होते हैं : प्रकाशसंवेदन, वर्णसंवेदन और आकृतिसंवेदन। === प्रकाशबोध === प्रकाशबोध वह अंतर्निहित शक्ति है, जिससे हम प्रकाश की न्यूनाधिक सभी प्रकार की तीव्रताओं का अनुभव कर पाते हैं। शंकुओं की अपेक्षा दंड निम्न दीप्ति के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं, जिसके कारण संध्या समय हम दंड से देखते हैं। रात्रिचर पशुओं के दृष्टिपटल में कम शंकु होते हैं, या बिल्कुल नहीं होते। === आकृतिबोध === यह दूसरी अंतर्निहित शक्ति है, जो हमें बाह्य जगत् के पदार्थों का प्रत्यक्ष ज्ञान कराती है। इसमें शंकुओं का कार्यभाग अधिक है और इसलिए मैक्यूला पर, जहाँ शंकु घने और विभेदित होते हैं, रूपसंवेदन बहुत ही तीव्र होता है। === वर्णबोध === वह अंतर्निहित शक्ति है, जिससे हम लोग भिन्न भिन्न रंगों और छायाधनों में भेद कर पाते हैं। इस शक्ति का ठीक ठीक अनुंसधान करना अत्यंत कठिन है, क्योंकि वर्णक्रम के अलग अलग रंगों की दीप्तियाँ अलग अलग होती हैं। इसलिए इस बाधक कारक को दृष्टिपटल की कायिक दशाओं, जैसे इसकी अनुकूलन अवस्था आदि, से जोड़ देना चाहिए। ये तीनों प्रत्यक्ष ज्ञान केंद्रीय या मैक्यूलीय दृष्टि के अत्यंत छोटे प्रदेश तक ही सीमित नहीं हैं। दृष्टिपटल के परिधीय भागों में भी ये थोड़े बहुत रहते ही हैं। नेत्रपरीक्षा में इन तीनों प्रत्यक्ष ज्ञानों की तीक्ष्णता की जाँच की जाती है। == दृष्टि की तीक्ष्णता == === दूर दृष्टि === रस्थ केंद्रीय दृष्टि की तीक्ष्णता की जाँच प्राय: स्नेलेन के परीक्षण टाइपों से की जाती है, जो ६०, ३६, २४, १८, १२, ९ और ६ मीटर पंक्तियाँ होती हैं। सामान्य व्यक्ति को छह मीटर दूरी पर स्थित, छह मीटर पंक्ति के अक्षरों को आरंभ से अंत तक पढ़ लेने में कठिनाई नहीं होनी चाहिए। यदि यह दूरी कम करनी पड़े तो व्यक्ति की दूरदृष्टि मानी जाती है। अंतिम दो दीप्तियों का महत्व अधिक है, क्योंकि इनके हेर फेर से दृष्टितीक्ष्णता का पठन बदल जाता है और इसीलिए १०० फुट की मानक दूरी को वरीयता दी जाती है। === निकट दृष्टि === रोगी की निकट दृष्टि का परीक्षण भी आवश्यक है। यह आवश्यक नहीं है कि जिसकी दूरदृष्टि सामान्य हो उसकी निकट दृष्टि भी सामान्य हो, या सामान्य निकट दृष्टिवाले की दूर दृष्टि भी सामान्य हो। जेगर निकट-परीक्षण टाइपों से जाँच करके जे१, जे१ अंक दिए जाते हैं। == दृष्टि का क्षेत्र == यह पर्वत के समान है, जिसके चारों ओर अंधता का समुद्र हो। केंद्रबिंदु दृष्टिअक्ष को निरूपित करता है। विभिन्न आकृतियों के श्वेत पदार्थों तथा नीले, लाल, पीले, हरे रंग के पदार्थों को लेकर क्षेत्र का परीक्षण किया जाता है। बुध्न तथा प्रकाशपथ के रोगों में क्षेत्र के परीक्षण से निदान करने में सुविधा होती है। सामान्यत: नीले और पीले रंगों का क्षेत्र श्वेत की अपेक्षा १०% कम होता है तथा हरे और लाल रंगों का क्षेत्र और भी १०% कम। दृष्टिक्षेत्र का परीक्षण निम्नलिखित दो भागों में किया जाता है : बायरम के पर्दे पर केंद्रीय क्षेत्र का और पेरिमीटर पर परिधिस्थ क्षेत्र का। इनमें केंद्रीय क्षेत्र अधिक महत्व का का है और इसमें स्थिरीकरण बिंदु के चतुर्दिक् ३०% का प्रक्षेप समाविष्ट है। == प्रकाशबोध == इसका परीक्षण फोटोमीटर और अभ्यनुकूलनमापी जैसे विशेष उपकरणों द्वारा किया जाता है। जब तक व्यक्ति अँधेरे कमरे में कम से कम २० मिनट रहकर अंधेरे का अभ्यस्त न हो जाए, यह परीक्षण नहीं करना चाहिए। हर व्यक्ति का प्रकाशबोध दूसरे से भिन्न होता है। रेटिनाइटिस पिगमेंटोस, विटामिन 'ए' की कमी और ग्लॉकोमा से पीड़ित रोगियों में प्रकाशबोध विलंबित होता है। == वर्णबोध == वर्णों के प्रत्यक्ष ज्ञान का परीक्षण कई विधियों से किया जाता है, जिनमें लैंटर्न परीक्षण, हॉल्मग्रेन का ऊन और इशिहारा चार्ट पद्धति लोकप्रिय हैं। == दृष्टि के दोष == अनेक प्रकार के दृष्टिदोषों का विवेचन करने से पहले सामान्य दृष्टि की सीमाओं को समझ लेना आवश्यक है। दृष्टि को तभी सामान्य कहा जाता है, जब दृष्टि के सभी पहलू सामान्य हों। यदि स्नेलेन परीक्षण टाइप पर छह मीटर पंक्ति को छह मीटर की दूरी से व्यक्ति पढ़ ले तो दूरदृष्टि सामान्य होती है। निकट दृष्टि की सामान्य सीमा जे१, जेगर परीक्षण टाइप को पढ़ने की दूरी है। इन दो महत्वपूर्ण पहलुओं के अतिरिक्त वर्णदृष्टि, दृष्टि के परिधिस्थ और केंद्रीय क्षेत्र तथा अंधेरा अभ्यनुकूलन में कोई असामान्यता नहीं होनी चाहिए। दृष्टिदोष के कारण अनेक हो सकते हैं, लेकिन कुछ कारण व्यापक हैं, अत: उनका विवेचन आवश्यक है। मोटे तौर पर दृष्टिदोष के कारणों को दो वर्गों में विभाजित किया जा सकता है : क्रमिक उद्भव के दृष्टिदोष और अचानक उद्भव के दृष्टिदोष। === क्रमिक उद्भव के दृष्टिदोष === इस वर्ग में ऐसी स्थितियाँ समाविष्ट हैं, जिनका उद्भव यहाँ तक क्रमिक होता है कि व्यक्ति का ध्यान उसकी ओर जाता ही नहीं और महीनों, या कभी कभी बरसों, बाद दृष्टि का ह्रास होना स्पष्ट होता है। इसके प्रकारों का वर्णन निम्नलिखित है : ==== वर्तन दोष ==== आँखों की वह स्थिति है, जिसमें प्रकाश की समांतर किरणें दृष्टिपटल की संवेदनशील परत पर तब फोकस होती हैं जब आँखे विश्राम की स्थिति में रहती हैं। अधोलिखित स्थितियाँ विशेष महत्वपूर्ण हैं : ===== निकट दृष्टि ===== या निकट दृष्टि वह है, जिसमें आँखों के विश्राम की स्थिति में प्रकाश की समांतर किरणें दृष्टिपटल की संवेदनशील परत के सामने फोकस होती हैं। निकट दृष्टि प्राय: अक्षीय होती है, अर्थात् इसका कारण आँख के अग्रपश्च व्यास में वृद्धि होती है। स्वच्छमंडल की वक्रता, या लेंस के अग्र या पश्च पृष्ठ में वृद्धि के कारण भी यह दोष उत्पन्न हो सकता है। माध्यम का वर्तनांक भी वर्तन को प्रभावित कर सकता है। लेंस के वर्तनांक का व्यावहारिक महत्व सर्वाधिक है। लेंस के वल्क के वर्तनांक में ह्रास या केंद्रक के वर्तनांक में वृद्धि होने से भी निकट दृष्टि हो सकती है। कुल मिलाकर निकट दृष्टि दो प्रकार की होती है - कायिक और रोगविज्ञान संबंधी। कायिक दोष छह डायॉप्टर से कम और स्वभावत: अप्रगामी होता है। लेंसों से दोष में पूरा पूरा सुधार होता है। रोगविज्ञानात्मक निकट दृष्टि अपकर्षी, प्रगामी और बहुत कुछ आनुवंशिक होती है। वर्तनदोष अंततोगत्वा १५ और २५ डायॉप्टर के मध्य रहता है। इसके बाद बुध्न में अपकर्षी परिवर्तन होने लगता है, जिससे दृष्टि का स्थायी ह्रास इस सीमा तक हो सकता है कि दृष्टिपटल के बिलगाव के कारण दृष्टि संपूर्ण रूप से नष्ट हो जाए। ===== दूरदृष्टि ===== दूरदृष्टि या में आँख के विश्राम की स्थिति में, प्रकाश की समांतर किरणें दृष्टिपटल की संवेदनशील परत से कुछ पीछे फोकस होती हैं। दूरदृष्टि प्राय: अक्षीय होती है, अर्थात् आँख के अग्रपश्च अक्ष का छोटा होना इसका निर्णायक कारण होता है। यह स्थिति व्यापक है और सामान्य विकास की एक अवस्था भी है। जन्म के समय सभी की आँख दूरदृष्टिक होती है। शरीर के विकास के साथ साथ किशोरावस्था व्यतीत होते होते सिद्धांतत: आँखों को निर्दोषदृष्टिक हो जाना चाहिए, लेकिन कुछ व्यक्तियों की दूरदृष्टि बनी रह जाती है। जब वर्तक पृष्ठों की वक्रता अनुचित रूप से कम होती है, या केंद्रक का वर्तनांक निम्न होता है, तब सूचक दूरदृष्टि उत्पन्न होती है। इसमें बुध्न विशेष परिवर्तित नहीं होता और व्यक्ति की दूरदृष्टि और निकटदृष्टि, दोनों में विकर हो सकता है। यह स्थिति उपयुक्त उत्तल लेंसों से संपूर्ण रूप में सुधर जाती है। ===== अबिंदुकता ===== अबिंदुकता या वर्तन की ऐसी अवस्था है, जिसमें दृष्टिपटल पर प्रकाश का बिंदु-फोकस नहीं बन पाता। सिद्धांतत: कोई आँख बिंदवीय नहीं होती। वक्रता की त्रुटि, संकेंद्रण या वर्तनांक की त्रुटि के कारण अबिंदुकता हो सकती है। यह स्थिति बिंबों को विकृत करके आँखों के तनाव के अनेक लक्षण उत्पन्न करती है। यह दोष नियमित या अनियमित दोनों हो सकता है। नियमित दोष को बेलन लेंस से और अनियमित को संस्पर्शी लेंस से ठीक किया जा सकता है। ==== जराकालीन मोतियाबिंद ==== जराकालीन मोतियाबिंद या नेत्र के लेंस या उसके संपुट में विकास की अवस्था में उत्पन्न या अर्जित हर प्रकार की पारांधता है, जो निर्मित लेंस के रेशों के अपकर्षण से होती है। अपकर्षण का कारण अभी तक अस्पष्ट बना हुआ है। संभवत: भिन्न भिन्न व्यक्तियों को भिन्न भिन्न कारणों से अपकर्षण होता है। पानी और विद्युद्विश्लेष्य के अंत:कोशिक या बाह्यकोशिक संतुलन में बाधक, या रेशों के कलिल तंत्र को अव्यवस्थित करनेवाला कोई रासायनिक या भौतिक कारक, अपारदर्शिता उत्पन्न करता है। जीवरसायन के अनुसार दो कारक इस प्रक्रिया में स्पष्ट हैं। पहला कारक, प्रारंभिक अवस्था में जलयोजन है और दूसरा बाद की अवस्था में रेशों के अंदर स्थित कलिल तंत्र में परिवर्तन है। पहले प्रोटीनों का तत्वविकिरण होता है और बाद में ये घनीभूत हो जाते हैं। मोतियाबिंद की तीन अवस्थाएँ होती हैं : अपरिपक्वता, परिपक्वता और अतिपक्वता। इन अवस्थाओं को व्यतीत होने में दो तीन वर्ष या अधिक समय लग सकता है। व्यक्ति दिन दिन दृष्टि के अधिकाधिक ह्रास की शिकायत करता है। व्यक्ति में एकनेत्री, द्विदृष्टि या बहुभासी दृष्टि भी उत्पन्न हो सकती है और वह कृत्रिम प्रकाश के चतुर्दिक् रंगीन प्रभामंडल देखने लगता है। मोतियाबिंद के निकाल देने और उपयुक्त लेंस के उपयोग से दृष्टि को इस स्थिति से मुक्त किया जा सकता है। ==== दीर्घकालिक साधारण ग्लॉकोमा ==== दीर्घकालिक साधारण ग्लॉकोमा या ग्लॉकोमा लक्षणात्मक अवस्था है। यह कोई स्वतंत्र बीमारी नहीं है। इसका प्रमुख लक्षण अंतरक्षि दाब की वृद्धि है। नेत्रगोलक का सामान्य तनाव पारे के १८ मिमी. Wikipedia

    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: Apparato visivo, Neuroscienze, Oftalmologia

  Apparato visivo · Sistema visivo

L'apparato visivo dei vertebrati è formato da due organi esterni pari e simmetrici posti nella regione anteriore della testa, gli occhi, considerati come un'appendice dell'encefalo, sia per derivazione embriologica, sia per una serie di correlazioni funzionali, come la capacità integrativa propria delle strutture nervose, che si ritrova a livello della retina. Wikipedia

HAS KIND
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02

  視覚系

視覚の感覚システム Japanese WordNet

IS A
HAS KIND
    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: Зрение, Зрительная система, Физиология зрительного анализатора

  Зрительная система · визуальное восприятие · зрение · зрения, органы · зрительная система человека

Зри́тельная систе́ма — бинокулярная оптическая система биологической природы, эволюционно возникшая у животных и способная воспринимать электромагнитное излучение видимого спектра, создавая ощущение положения предметов в пространстве. Wikipedia

More definitions


Восприятие света Wikidata
Система восприятия света Wikidata

    •         •         •     bn:00080136n     •     NOUN     •     Concept    •     Updated on 2019/05/02     •     Categories: Sistema sensorial, Sistema visual

  Sistema visual · aparato visual

El sistema visual es la parte del sistema nervioso central que les brinda a los organismos la habilidad de procesar detalle visual, así como habilitar la formación de varias funciones de respuesta de foto sin imagen. Wikipedia

More definitions


Sistema sensorial para la visión. Multilingual Central Repository


 

Translations

جهاز الرؤية, Visual system, جهاز رؤية, نظام بصري, مسار البصرية, نظام البصرية
视觉系统, 视 觉, 视 觉 通 路
visual system, Human visual system, Koniocellular pathway, Magnocellular pathway, Optic pathway, Parvocellular pathway, Seeing system, Visual, Visual pathway, Visual pathways, Visual sensor, Visual systems
système visuel, Systeme visuel, visuelle, voie visuelle
visuelles system, Sehsystem, sehbahn, visuelle
οπτικό σύστημα, σύστημα όρασης, οπτική
מערכת הראייה, מערכת הראיה, המסלול החזותי, מערכת ראייה
दृष्टि, दृश्य प्रणाली, दृश्य, दृश्य मार्ग
apparato visivo, sistema visivo, via visiva
視覚系
зрительная система, визуальное восприятие, зрение, зрения, органы, зрительная система человека, зрительный анализатор, орган зрения, зрения органы, зрительной системы, зрительного пути, зрительный путь
sistema visual, aparato visual, visual, vía visual

Sources

WordNet senses

Japanese WordNet senses

視覚系

Greek WordNet senses

οπτικό σύστημα, σύστημα όρασης

Multilingual Central Repository senses

aparato visual, sistema visual

WOLF senses

système visuel

Translations from Wikipedia sentences

مسار البصرية
视 觉, 视 觉 通 路
système visuel, visuelle, voie visuelle
sehbahn, visuelle
οπτική, οπτικό σύστημα
המסלול החזותי, מערכת הראייה
दृश्य, दृश्य प्रणाली, दृश्य मार्ग
sistema visivo, via visiva
зрительного пути, зрительной системы, зрительный путь
sistema visual, visual, vía visual

Translations from SemCor sentences or monosemous words

نظام البصرية
视觉系统
système visuel
sehsystem
οπτικό σύστημα
מערכת ראייה
दृश्य प्रणाली
sistema visivo
視覚系
зрительной системы
sistema visual
5 sources | 9 senses
5 sources | 7 senses
4 sources | 15 senses
6 sources | 9 senses
5 sources | 7 senses
3 sources | 5 senses
5 sources | 7 senses
4 sources | 6 senses
5 sources | 7 senses
3 sources | 3 senses
5 sources | 18 senses
5 sources | 9 senses

Compounds

BabelNet

visual communication, human visual system, visual evoked potentials, visual disturbance, visual arts, Visual hallucination, Visual Arts, visual approach, visual appearance, Audio Visual, visual disorder, visual effects, visual cues, parvocellular pathway

Other forms

BabelNet

visually, visual domain, parvocellular, Vision, vision, sight, eyesight, magnocellular
visuel, vision
visuellen Systems, visuellen System
ראיה, ראייה, הראייה, תמונה, לראות, תמונות
cortecce visive, corteccia visiva primaria
видит, зрительного анализатора, зрению, зрительной системой, зрительной, оптического тракта, визуального восприятия, зрением, визуального, визуальную, зрительные, зрительная, зрительного, зрительной коры, зрительный, зрения, зрительных

External Links

DBpedia